सचिन पायलट और अशोक गहलोत दिल्ली जाएंगे

जयपुर : विधानसभा चुनावों में जीत के बाद कांग्रेस में सरकार बनाने को लेकर हलचल तेज हो गई है कुछ ही देर में कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल कल्याण सिंह से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश करेगा।

सचिन पायलट और अशोक गहलोत दिल्ली जाएंगे। जयपुर में प्रदेश कांग्रेस के ऑफिस के बाहर कार्यकर्ताओं और नेताओं का जमावड़ा लगा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक राजस्थान में कांग्रेस ने रात 8 बजे राज्यपाल से मिलने का समय मांगा है।
पार्टी की ओर से वरिष्ठ नेता के सी वेणुगोपाल को पर्यवेक्षक बनाकर जयपुर भेजा गया है। वे बुधवार को पीसीसी ऑफिस में पहुंचे और यहां पर कांग्रेस विधायक दल की बैठक ली।

अशोक गहलोत और पीसीसी चीफ सचिन पायलट भी इस मीटिंग में मौजूद रहे। इस मीटिंग के जरिए विधायकों की राय गई, साथ ही मन टटोल कर ये जानने की कोशिश की गई कि वे किसे मुख्यमंत्री के रुप में देखना चाहते हैं।

बैठक खत्म होने के बाद के सी वेणुगोपाल मीटिंग रूम से बाहर निकल आये। माना जा रहा है कि वे जल्द ही राहुल गांधी को मीटिंग के दौरान हुई चर्चा के बारें में अवगत करायेंगे, जिसके बाद राहुल गांधी सीएम के नाम पर अंतिम मुहर लगा सकते है।सूत्रों का कहना है, राजस्थान में दो-तिहाई कांग्रेस विधायक सचिन पायलट को CM बनाने के पक्ष में है।

विधायक दल की मीटिंग के दौरान पार्टी कार्यालय के बाहर मौजूद गहलोत और पायलट समर्थक नारेबाजी करते हुए नजर आए। दोनों समर्थक अपने-अपने नेता के नाम पर जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे। इस दौरान पार्टी कार्यालय के बाहर खून से सनी हुई एक चिट्ठी पाई गई। जिसमें एक कार्यकर्ता ने सचिन पायलट को सीएम बनाने की मांग की थी। वहीं, सीपी जोशी ने कहा कि कोई भी फैसला लोकसभा चुनाव को देखते हुए लिया जाएगा।