राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद म्यांमार के दौरे पर

नयी दिल्ली: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज 10 से 14 दिसंबर तक म्यांमार के दौरे पर जायेंगे। जहां वह अपने समक्ष यू विन मिंत तथा स्टेट काउंसेलर दाव आंग सान सू की से चर्चा करेंगे। राष्ट्रपति के म्यांमा दौरे के दौरान कई समझौते होने की संभावना है। मंत्रालय के अनुसार, ‘‘ इस यात्रा के दौरान राष्ट्रपति म्यांमा के साथ महत्वपूर्ण गठजोड़ को और मजबूत बनाने की भारत की प्रतिबद्धता की पुन: पुष्टि करेंगे। ’’ म्यांमा एक ऐसा देश है जहां भारत की एक्ट ईस्ट नीति और पड़ोस प्रथम की नीतियां परिलक्षित होती है। यह आसियान का एकमात्र देश है जो भारत की जमीन से जुड़ा और नौवहन पड़ोसी है।

भारत, म्यांमार का एक महत्वपूर्ण विकास सहायक साझेदार भी है और वह देश में कई बड़ी बुनियादी सुविधाओं की परियोजनाओं पर कार्य कर रहा है, जिसमें भारत-म्यांमार-थाईलैंड त्रिपक्षीय राजमार्ग और कलादान मल्टीमॉडल परिवहन परियोजना शामिल है, जो सिट्टवे बंदरगाह को मिजोरम के साथ जोड़ती है।

दौरे के दौरान संयुक्त बयान जारी किया जाएगा और कई समझौतों पर हस्ताक्षर किए जाने की उम्मीद है।

पिछले तीन वर्षों में म्यांमा के साथ भारत के राजनीतिक, आर्थिक एवं रक्षा संबंध तेजी से आगे बढ़ रहे हैं और दोनों देशों के शीर्ष नेताओं का एक दूसरे देश में दौरा हो रहा है । दोनों देशों की थल सेना और नौसेना का द्विपक्षीय अभ्यास भी हुआ है । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले वर्ष म्यांमा की यात्रा की थी जबकि इस वर्ष जनवरी में आंग सान सू की भारत आई थीं ।