शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा

महाराष्ट्र के यवतमाल शहर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई विकास कार्यक्रमों की आधारशिला रखी और योजनाओं को लॉन्च किया। इस दौरान पीएम मोदी ने एक रैली को संबोधित किया। पीएम मोदी ने आज एक बार फिर पुलवामा हमले का जिक्र कर देशवासियों को आश्वस्त किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि मैंने कल भी कहा है और आज भी दोहरा रहा हूं। पुलवामा के शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। पीएम ने कहा, ‘आतंकी संगठनों ने, आतंक के सरपरस्तों ने जो गुनाह किया है, वे चाहे जितना छिपने की कोशिश करें उन्हें सजा जरूर दी जाएगी।

यह भी पढ़ें…..पुलवामा हमला: विरोध प्रदर्शन की वजह से मुंबई लोकल ठप, अफरातफरी का माहौल

पीएम मोदी ने कहा कि हम अपने सुरक्षाबलों के पराक्रम पर गर्व और भरोसा करते हैं। सैनिकों में और विशेषकर सीआरपीएफ में जो गुस्सा है, वो भी देश समझ रहा है और इसीलिए सुरक्षाबलों को खुली छूट दे दी गई है। उन्होंने कहा कि मैं जानता हूं कि इस समय हम किस गहरी वेदना से गुजर रहे हैं। पुलवामा में जो कुछ हुआ, आतंकियों की हरकत को लेकर आपके आक्रोश को मैं समझ सकता हूं।

यह भी पढ़ें…..यूपी में 66 IAS और 11 IPS अधिकारियों का तबादला, 22 जिलों के DM भी बदले

पीएम ने कहा कि महाराष्ट्र के भी 2 वीर सपूतों ने भी देश की सेवा करते हुए पुलवामा में अपने प्राणों की आहुति दी है। जिन परिवारों ने अपने लाल को खोया है, उनकी पीड़ा मैं भली-भांति अनुभव कर सकता है। हम सभी की संवेदनाएं उनके साथ हैं।

यह भी पढ़ें…..बागपत के NH-709 B हाइवे पर आबकारी विभाग की गाड़ी पलटी, कई सिपाही घायल

पीएम ने आगे कहा, ‘बंटवारे के बाद अस्तित्व में आया एक देश, जहां आतंकवाद को पनाह दी जाती है, आज दिवालिया होने के कगार पर खड़ा है। वह आतंक का दूसरा नाम बन चुका है।’ उन्होंने कहा कि मैं देश को फिर भरोसा दिलाता हूं कि धैर्य रखें। अपने जवानों पर भरोसा रखें।

पुलवामा के गुनहगारों को सजा कैसे दी जाएगी, कहां दी जाएगी, कब दी जाएगी, कौन देगा, किस प्रकार की सजा देगा, ये सब हमारे जवान तय करेंगे।