बागी विधायकों की मान मनोव्वल जारी

बैंगलुरु: कर्नाटक में अपना-अपना कुनबा बचाने के लिए कांग्रेस, भाजपा और जेडीएस तीनों ही पार्टियां इस समय रिसोर्ट पॉलिटिक्स के सहारे हैं. कांग्रेस और जेडीएस तो पहले से ही अपने विधायकों को रिसोर्ट में भेज चुकी थी, अब भाजपा को भी डर सता रहा है कि कहीं सत्ता पक्ष उसके विधायकों को न तोड़ ले. भाजपा की ये चिंता तब और बढ़ गई जब कर्नाटक के सीएम कुमारस्वामी ने कहा है कि वह फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार हैं. इसके बाद भाजपा ने अपने विधायकों को बेंगलुरु के पास रामदा रिजॉर्ट में ठहराया दिया है.

इस बीच कांग्रेस ने अपने विधायकों को ताज विवांता यशवंतपुर में रुकवाया है. कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा देने वाले विधायकों को मनाने का भरपूर प्रयत्न कर रही है. शनिवार को कर्नाटक सरकार के मंत्री डीके शिवकुमार पार्टी से इस्तीफा देने वाले विधायक एमटीबी नागराज से मिलने के लिए पहुंचे. थोड़ी देर में बाद ही डिप्टी सीएम जी परमेश्वर भी एमटीबी नागराज के घर पहुंचे और उन्हें मनाने की कोशिश की. जेडीएस ने अपने विधायकों के ठहरने के लिए मशहूर गोल्फशायर होटल में व्यवस्था करवाई है.

आपको बता दें कि 8 दिन पहले शुरू हुए राजनीतिक घटनाक्रम में कर्नाटक के अब तक 16 MLA इस्तीफा दे चुके हैं. इनमें से 13 कांग्रेस के और 3 जेडीएस के विधायक हैं. हालांकि कर्नाटक विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार ने अब तक किसी भी विधायक का इस्तीफा मंजूर नहीं किया है. शुक्रवार को ये मामला सर्वोच्च न्यायालय में पहुंचा. सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार तक यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया है. अब 16 जुलाई तक स्पीकर इन विधायकों को अयोग्य नहीं ठहरा सकेंगे.