ब्रि़टिश हाईकोर्ट अगले साल से माल्या के प्रत्यर्पण पर शुरू करेगी सुनवाई

ब्रि़टिश हाईकोर्ट ने कहा कि वह अगले साल यानी 11 फरवरी 2020  से विजय माल्या के प्रत्यर्पण पर  शुरू करेगी सुनवाई। कोर्ट ने बताया कि इस भगोड़े व्यवसायी की सुनवाई करीब तीन दिन तक चलेगी। आपको बता  दें कि माल्या भारतीय बैंकों के साथ 9,000 करोड़ रुपये के बकाये में धोखाधड़ी और मनी लॉड्रिंग करने का आरोपित है।

ब्रिटेन के गृह मंत्री मंत्री साजिद जाविद ने माल्या को भारतीय अधिकारियों के हवाले किए जाने की हरी झंडी दे दी है।
विजय माल्या ने सोशल मीडिया पर बंद पड़ी किंगफिशर एयरलाइन के कर्ज को लेकर सार्वजनिक क्षेत्र के भारतीय बैंकों का 100 फीसदी पैसा लौटाने की बात कही थी।  माल्या अभी जमानत पर है।

माल्या अपने ऊपर लगे सारे आरोपों को नकारते हुए इसे झूठा और साजिश करार देता है। ब्रि़टिश हाईकोर्ट ने माल्या को बड़ी राहत देते हुए प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील करने की अनुमति दे दी थी। अगर लंदन हाई कोर्ट  उसे अपील करने की अनुमति नहीं देती तो उसे अगले कुछ दिनों में भारत को प्रत्यर्पित किया जा सकता था। माल्या को भारत में भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित किया चूका है और भारतीय जांच एजेंसियों की अर्जी पर यहां की निचली अदालत ने उसके प्रत्यर्पण का आदेश दे रखा है।