कर्ज में गले तक डूबे अनिल अम्बानी, अब ऋण चुकाने के लिए लिया ये फैसला

मुंबई: रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी ऋण चुकाने के लिए निरंतर प्रयास कर रहे हैं. इसी के तहत अनिल अंबानी अब मुंबई में अपना हेडक्‍वार्टर बेचने की कोशिश में लग गए हैं. इसके लिए अनिल अंबानी ब्लैकस्टोन समेत कुछ ग्लोबल प्राइवेट इक्विटी फर्मों के साथ बात कर रहे हैं. इकोनॉमिक्‍स टाइम्‍स की एक रिपोर्ट के अनुसार, अनिल अंबानी मुंबई के सांताक्रूज में स्थित हेडक्‍वार्टर रिलायंस सेंटर को बेचकर या फिर लंबे समय के लिए लीज पर देकर ऋण चुकाना चाहते हैं.

उल्लेखनीय है कि रिलायंस सेंटर के नाम का यह हेडक्‍वार्टर 7 लाख स्‍क्‍वायर फुट में फैला हुआ है और इसे बेचने से 1,500-2,000 करोड़ रुपये आसानी से मिल सकते हैं. रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि हेडक्‍वार्टर को बेचने के लिए रिलायंस ग्रुप इंटरनेशनल प्रॉपर्टी कंसल्टंसी जेएलएल को जिम्मेदारी सौंप सकता है.  रिपोर्ट के अनुसार रिलायंस ग्रुप के प्रवक्ता ने इसकी पुष्टि की है कि ग्रुप के मुंबई के हेडक्‍वार्टर समेत रियल एस्टेट ऐसेट्स को बेचने पर मंथन किया जा रहा है.

हालांकि, उन्होंने इस संबंध में अधिक जानकारी देने से इंकार कर दिया. जबकि ब्लैकस्टोन ने इस डील पर टिप्पणी करने से मना कर दिया. आपको बता दें कि रिलायंस ग्रुप के हेडक्वॉर्टर की मालिक कंपनी रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर है. जानकारी के लिए आपको बता दें कि अनिल अंबानी की रिलायंस ग्रुप पर 1 लाख करोड़ से अधिक का कर्ज है.